डायना बेंच पर बैठकर ताजमहल को निहारेंगे ट्रंप-मेलानिया

24 फरवरी को आ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया 112 साल पुरानी संगमरमरी बेंच पर बैठकर ताजमहल का दीदार करेंगे। ब्रिटिश शासन के दौरान लार्ड कर्जन ने 1907-08 में ताजमहल के सेंट्रल टैंक पर लकड़ी की बेंच हटवा कर मुगलिया शैली की संगमरमर से तामीर कराई गई बेंच लगवाई थीं।ब्रिटेन की राजकुमारी डायना ने 1992 में जब ताजमहल के सेंट्रल टैंक पर तस्वीरें खिंचवाई तो यह बेंच डायना सीट के नाम से चर्चित हो गई। डायना की यात्रा के बाद कोई ऐसा राष्ट्राध्यक्ष नहीं, जिसने उसी अंदाज में ताज के दीदार के साथ फोटोग्राफी न कराई हो। लार्ड कर्जन ने यहां चार संगमरमरी बेंच लगवाईं, लेकिन वाटर चैनल के सामने वाली बेंच को डायना सीट का नाम दिया गया। ताजमहल के रॉयल गेट से अंदर आते ही ताजमहल का पूरा नजारा दिखता है। रेड सैंड स्टोन प्लेटफार्म से नीचे उतरने पर वाटर चैनल से सटे पाथवे के जरिए अमेरिकी राष्ट्रपति ताज के मुख्य गुंबद तक पहुंचेंगे, लेकिन प्लेटफार्म पर लगी रेलिंग को हटाया जाएगा।पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के आगमन के समय रॉयल गेट से ताज का जो नजारा था, उसी को दोहराने की तैयारी है।

रेलिंग हटाकर उसकी जगह फूलों के गमले रखे जाएंगे, जिनमें रंगीन फूल अमेरिकी राष्ट्रपति को आकर्षित करेंगे। इसी तरह मुख्य गुंबद और चमेली फर्श पर लगी स्टील की रेलिंग को भी ट्रंप की यात्रा के दौरान हटाया जाएगा।ताजमहल में मेहमान खाने के दो पिनेकल कमजोर पड़ने और बंदरों के झूलने के कारण गिर गए थे। ट्रंप की यात्रा से पहले दोनों पिनेकल मेहमान खाने के गुंबदों पर लगा दिए गए। मेहमान खाने की ओर ही नौबतखाने पर लगी लोहे के पाइपों की पाड़ को भी सुरक्षा कारणों से हटवाया जा रहा है। शुक्रवार तक एएसआई ताज म्यूजियम के ठीक सामने वाले नौबतखाने से पाड़ हटवा देगी। ट्रंप के दौरे के कारण एएसआई (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) ने सेंट्रल टैंक के पानी को निकालकर टैंक की सफाई का काम शुरू किया है। यहां नीले रंग का पेंट किया गया है। टैंक से रॉयल गेट और मुख्य गुंबद के बीच में मौजूद वाटर चैनल की सफाई कर नीला पेंट किया गया है। इसी वाटर चैनल में फुब्बारों की सफाई और मरम्मत का काम जारी है। नई मोटरें लगाकर फुब्बारे चलाए जाएंगे, वहीं साइप्रस के पौधों की छंटाई का काम भी किया गया। चमेली फर्श से गुंबद पर जाने वाले रास्ते पर टूटे पत्थरों को बदला जा रहा है।

Leave a comment