टीईटी परीक्षा में हुआ बड़ा बदलाव

राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने टीईटी की में बड़ा बदलाव किया है. जहां एनसीटीई ने जुलाई 2011 के पूर्व स्नातक परीक्षा में 50 फीसदी से कम अंक पाने वाले बीएड धारकों को टीईटी में शामिल होने की अनुमति दे दी है. वहीं एनसीटीई की अधिसूचना में कहा गया है कि स्नातक परीक्षा में अभ्यर्थी के अंक चाहे कुछ भी हों. लेकिन किसी को भी शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल होने से नही रोंका जा सकता है. जबकि पूर्व में एनसीटीई की ओर से 29 जुलाई 2011 को नियमों में संशोधन के बाद से ही. 50 फीसदी से कम अंक पाने वाले अभ्यर्थियों को शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल होने से रोक दिया गया था. गौरतलब है कि नियमों में बदलाव के बाद अब उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा की तिथि बढ़ाकर उसमें शामिल करने की अभ्यर्थी मांग कर सकते हैं।

Leave a comment