बाराबंकी में फर्जी पैन कार्ड लगाकर सैलरी पा रहे 5 शिक्षक बेनकाब, जांच जारी

अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्तियों में बड़ी हेराफेरी पकड़ी गई है. परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों का डाटा मानव सम्पदा पोर्टल और प्रेरणा एप पर अपलोड करने के बाद प्रदेश में सैकड़ों शिक्षक ऐसे सामने आए हैं जिन्होंने पैन नंबर बदल कर वेतन भुगतान में फर्जीवाड़ा किया है.

बाराबंकी जिले में भी अभिलेखों की जांच में 5 शिक्षक और एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के मामले मिले हैं, जिसमें एक ही पैन नंबर पर अलग-अलग नाम दर्ज हैं. केवल उनका खाता नंबर अलग है. इस वक्त प्रदेश में बेसिक शिक्षकों के वेतन संबंधी अभिलेखों की जांच हो रही है.

इस संबंध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि प्रदेश के राज्य परियोजना द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि मानव संपदा द्वारा डेटा तैयार किया गया. जिसके बाद ये खुलासा हुआ है कि प्रदेश में कई शिक्षक एक पैन नंबर का इस्तेमाल कर वेतन ले रहे हैं.

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि इसका संज्ञान लेते हुए मैंने भी जनपद के सभी शिक्षकों का डेटा चेक कराया जिसमें 5 शिक्षक और एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बाराबंकी जिले में ऐसे पाए गए जिनका पैन नंबर एक ही था. इन सभी को नोटिस देकर कार्यालय में अपना पक्ष रखने के लिए निर्देशित किया गया है. साथ ही सभी की जानकारी मुख्यालय को भेज दी गई है. शासन के निर्देशानुसार उचित कार्रवाई की जाएगी.

Leave a comment