....तो अगले कुछ सालों में पृथ्वी पर गाय ही दिखाई देगी

यदि भविष्य में बड़े आकार वाले और विलुप्तप्राय: जीवों का अस्तित्व नहीं रहा तो आने वाले 200 वर्षों में गाय पृथ्वी पर सबसे बड़ी स्थल स्तनधारी जीव रह जाएगी. एक अध्ययन के अनुसार ये बातें कही गईं हैं. बता दें कि अमेरिका में न्यू मैक्सिको विश्वविद्यालय के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने पाया कि स्तनधारी जैव विविधता का नुकसान एक प्रमुख संरक्षण चिंता है जो कम से कम 125,000 वर्षों तक चलने वाली लंबी अवधि की प्रवृत्ति का हिस्सा है.

जर्नल साइंस में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार बड़े आकार वाले स्तनधारी जीवों पर मनुष्य के प्रभाव से इन जीवों के अफ्रीका से बाहर चले जाने का अनुमान लगता है. शोधकर्ताओं ने पाया कि जीवों के शरीर के आकार में गिरावट से प्रत्येक महाद्वीप पर समय के साथ ही सबसे बड़ी प्रजातियों के अस्तित्व को खतरा है और यह अतीत तथा वर्तमान दोनों में मानव गतिविधि की एक बानगी है. अध्ययन के अनुसार यदि भविष्य में यही प्रवृत्ति जारी रही तो शोधकर्ताओं ने चेताया है कि आने वाले 200 वर्षों में घरेलू गाय पृथ्वी पर सबसे बड़ा स्थलीय स्तनधारी हो सकती है.

न्यू मैक्सिको विश्वविद्यालय के फेलिसा स्मिथ के अनुसार सबसे चौंका देने वाली खोजों में से एक यह थी कि 125,000 साल पहले, अफ्रीका में स्तनधारियों का औसत शरीर का आकार पहले से ही अन्य महाद्वीपों की तुलना में 50 प्रतिशत छोटा था. हमें संदेह है कि इसका मतलब यह है कि पुरातन मनुष्यों ने पहले से ही स्तनधारी विविधता और जीवों के शरीर के आकार को प्रभावित किया था .

Leave a comment